आइए आज जाने के क्या नए ब्लॉग या वेबसाइट पर ऐडसेंस ऐड लगाना चाहिए या नहीं? , Aaiye aaj jaane ke new blog ya website par google adsense ki add lagani chahiye ke nahi ?
आइए आज जाने के क्या नए ब्लॉग या वेबसाइट पर ऐडसेंस ऐड लगाना चाहिए या नहीं? , Aaiye aaj jaane ke new blog ya website par google adsense ki add lagani chahiye ke nahi ?

आइए आज जाने के क्या नए ब्लॉग या वेबसाइट पर ऐडसेंस ऐड लगाना चाहिए या नहीं? | Aaiye aaj jaane ke new blog ya website par google adsense ki add lagani chahiye ke nahi ?

SEMrush

आइए आज जाने के क्या नए ब्लॉग या वेबसाइट पर ऐडसेंस ऐड लगाना चाहिए या नहीं? | Aaiye aaj jaane ke new blog ya website par google adsense ki add lagani chahiye ke nahi ?

 

क्या आपका कोई ब्लॉगर मित्र (blogger friend) अपने नए ब्लॉग पर ऐडसेंस ऐड लगाने को लेकर कंफ़्यूज़ (confusing you) है? अगर हाँ तो आप उसका कंफ़्यूज़न दूर कर सकते हैं। ब्लॉगिंग के शुरुआती दिनों में बहुत से ब्लॉग रीडर मुझसे शिक़ायत (complaint) करते थे कि आपके ऐड लगाने से उन्हें ब्लॉग पढ़ने में दिक़्क़त (problem in reading blog because of advertisement) होती है या विज्ञापन उन्हें ब्लॉग पर अच्छे नहीं लगते हैं या वो कहते थे कि ब्लॉग का लुक बिगड़ (blog look changes after adding add.) रहा है। इसलिए मैंने साइट से विज्ञापन (remove ads from website) हटा दिए थे। इसके अलावा भी कई कारण (so many reasons) हो सकते हैं, जो आपको अपने नए ब्लॉग से पैसा कमाने से रोकते हैं।

मेरे ब्लॉगर मित्र हैं, जिनके पास एप्रूव्ड ऐडसेंस एकाउंट है (approved accounts) लेकिन वो अपने ब्लॉग पर उसे प्रयोग नहीं कर रहे हैं? उनका मानना है कि अगर आप ब्लॉग पर विज्ञापन लगाते हैं कि तो आपके रीडर्स को आपको पैसा कमाने वाला समझते हैं। लेकिन वो प्लानिंग (planning) कर रहे हैं कि ब्लॉग पर ट्रैफ़िक बढ़ते ही विज्ञापन (advertisement) लगाए जायें। पता नहीं, क्या ट्रैफ़िक बढ़ने बाद ऑडियंस की सोच में इतना फ़र्क (change in thinking) कैसे आएगा?

नए ब्लॉग या वेबसाइट पर ऐडसेंस | Google Adsense on new blog or website

क्या आप भी अपने नए ब्लॉग पर ऐडसेंस ऐड लगाने से झिझक (are you hesitating about publishing ads on your blog) रहे हैं? क्या आप भी अपने ब्लॉग रीडर्स की सोच जानने में इच्छुक हैं?

SEMrush

नए ब्लॉग से पैसे कमाने से देरी क्यों की जाए? ब्लॉग से पैसे कमाने की इच्छा आपको लालची (greedy) या कम अच्छा ब्लॉगर नहीं बनाती है। बल्कि यह एक मौक़ा है (its a chance) जिससे आप अपना शौक़ पूरा करते करते कमाई (make some earning) भी कर सकते हैं। आप ख़ुद ही बताएँ कि इसमें शर्म की क्या बात है?

अगर आपके पास कोई ब्लॉग है, जिससे पैसा कमाया जा सकता है तो इस मौक़े को अपने हाथ से मत जाने दें। क्योंकि जो भी आमदनी (income from blogging) होगी वह आपके ब्लॉग चलाने और दूसरे खर्च (use income for your expenditure) में काम आएगी।

विज्ञापन क्या है और अपने ब्लॉग से पैसा कमाना क्यों सही है? | What are advertisement and why earning money from blog is correct.

अगर विज्ञापन आपके ब्लॉग से संबंधित है (blog related ads.) और आपके रीडर्स उन्हें ख़रीदकर लाभ उठा सकते हैं तो आप उन्हें साइडबार (sidebar), हेहर(header) या फिर दूसरी किसी जगह लगाएँ।

नए ब्लॉग पर ऐडसेंस से पैसा कमाने का निर्णय (decision is yours) आपका है, इसमें कुछ भी सही या ग़लत नहीं है। इसलिए ज़्यादा विचार करने की ज़रूरत (no need to think too much on it) नहीं है। कुछ रीडर्स के बारे में सोचकर आप अपना बड़ा फ़ायदा बड़ा फ़ायदा मत छोड़ें। आपको जब लगे कि ब्लॉग से कमाई शुरु की जा सकती है, तबसे हाथ पैर मारने शुरु कर दीजिए। लेकिन ब्लॉग पेज को विज्ञापनों से भर देने की ज़रूरत नहीं (no need to full blog with ads) है। विज्ञापन कम ही लगाइए मगर वही लगाइए जिनसे आपको ज़्यादा समय तक (choose ads. wisely and put less ads.) ज़्यादा फ़ायदा हो। साथ ही कम विज्ञापन लगाने से आपको अच्छा सीटीआर (good CTR) भी मिलेगा।

इसलिए अगर ऐडसेंस एकाउंट एप्रूव हो चुका है तो आपको ब्लॉग पर कुछ यूनिट (put some ads. unit on your website or blog) ज़रूर लगानी चाहिए।

अगर आप अच्छा लिखेंगे, अपनी आडियंस बनाएंगे (right good to have better visitors) और हो सकता है कि आप ब्लॉग लिखकर ही अपनी आजीविका (income) चला सकते हैं।

SEMrush
x

Check Also

मिलिए गूगल ऐडसेंस डैशबोर्ड के नए इंटरफ़ेस से, Meet New Google Adsense Interface

मिलिए गूगल ऐडसेंस डैशबोर्ड के नए इंटरफ़ेस से- Meet New Google Adsense Interface

मिलिए गूगल ऐडसेंस डैशबोर्ड के नए इंटरफ़ेस से- Meet New Google Adsense Interface गूगल ऐडसेंस ...