ब्लॉगर ब्लॉग चुने या वर्डप्रेस ब्लॉग चुने- आखिर कैसे करे चुनाव, आइए जाने , Blogger blog chune ya wordpress blog chune- aakhir kaise kare chunaav, aaiye jaane
ब्लॉगर ब्लॉग चुने या वर्डप्रेस ब्लॉग चुने- आखिर कैसे करे चुनाव, आइए जाने , Blogger blog chune ya wordpress blog chune- aakhir kaise kare chunaav, aaiye jaane

ब्लॉगर ब्लॉग चुने या वर्डप्रेस ब्लॉग चुने- आखिर कैसे करे चुनाव, आइए जाने | Blogger blog chune ya wordpress blog chune- aakhir kaise kare chunaav, aaiye jaane

SEMrush

ब्लॉगर ब्लॉग चुने या वर्डप्रेस ब्लॉग चुने- आखिर कैसे करे चुनाव, आइए जाने | Blogger blog chune ya wordpress blog chune- aakhir kaise kare chunaav, aaiye jaane

 

ब्लॉगिंग के शुरुआत करने से पहले आपको सही ब्लॉगिंग प्लेटफ़ॉर्म (choose right blogging platform) चुनना चाहिए। आज ब्लॉगर , टम्बलर (tumblr) और वर्डप्रेस जैसे बढ़िया विकल्प मौजूद हैं। अगर आप इंटरनेट पर सर्च करें तो आपको बहुत से संबंधित आलेख (related posts) मिल जायेंगे। कोई कुछ सजेस्ट (suggest) करता है तो कोई कुछ, नए ब्लॉगर के लिए सही ब्लॉगिंग प्लेटफ़ॉर्म चुनना किसी चुनौती से कम नहीं है। आज का हमारा टॉपिक (our topic) ब्लॉगर और वर्डप्रेस के बीच चुनाव करने का है। ब्लॉगर एक शानदार ब्लॉगिंग प्लेटफ़ॉर्म है जिसको गूगल सेवाएँ पसंद करने वाले बेहद पसंद (thos who like google services like blogger) करते हैं, क्योंकि इसका रखरखाव बड़ा सरल है। दूसरी ओर बात जब वर्डप्रेस की आती है तब लोग वर्डप्रेस जैसे कंटेंट मैनेजमेंट सिस्टम की तारीफ़ करते थकते नहीं हैं। एक ब्लॉगिंग कंसल्टेंट (blogging consultant) के रूप में यह प्रश्न बहुत बार मुझसे पूछा जाता है।

इसका जवाब मैं यूज़र्स के स्किल जाने बिना नहीं देता, क्योंकि आप किसे क्या सजेस्ट कर रहे हैं, इससे बहुत प्रभाव (effect) पड़ता है। अगर आप किसी टेक सैव्वी (tech savvy) को ब्लॉगर की सलाह देंगे तो यह नहीं है, लेकिन वहीं अगर आप किसी सामान्य व्यक्ति को जिसे तकनीकी जानकारी बहुत कम (very less technical knowledge) है, उसके लिए ब्लॉगर से अच्छा दूसरा विकल्प शायद ही कोई और है।

वर्डप्रेस और ब्लॉगर | WordPress ya Blogger

जब आप हिंदी ब्लॉगिंग के इतिहास को देखते हैं तब आपको मामूल होता है कि वर्डप्रेस से ज़्यादा ब्लॉगर को पसंद (people like blogger more than wordpress) किया गया है, इसके पीछे कई कारण रहे हैं –

  1. गूगल सेवा होने के कारण सिंगल लॉगिन (working on single login) से काम चल जाता है
  2. एक ब्लॉगस्पॉट यूज़र दूसरे के ब्लॉग पर आसानी से कमेंट (anyone can easily comment) कर सकता है
  3. ब्लॉगर डैशबोर्ड बहुत आसान (very easy dashboard) है, जिसे कोई भी समझ सकता है
  4. ब्लॉगर लेआउट में गैजेट बहुत कम (very less layout) हैं, लेकिन सामान्य यूज़र उनसे ही ख़ुश रहते हैं
  5. शुरुआती हिंदी ब्लॉगर अपनी बात प्रस्तुत करने आए थे न कि कमाई करने
  6. बैकपैनेल (back panel) संभालने से वो लोग घबराते थे

मैंने भी अपनी ब्लॉगिंग की शुरुआत ब्लॉगर (i also started from blogger) से ही की थी, बाद में तकनीकी समझ बढ़ाकर वर्डप्रेस पर शिफ़्ट (shifted to wordpress) हो गया। वर्डप्रेस सीखना भी कठिन नहीं है, इंटरनेट और यूटूब पर बहुत से रिसोर्सेज हैं (so many resources available on internet) जिन्हें देखकर आप बहुत कुछ सीख सकते हैं और वर्डप्रेस में एक्सेल कर सकते हैं।

इस आलेख का उद्देश्य है कि आप जान सकें कि आपके लिए कौन सा ब्लॉगिंग प्लेटफ़ॉर्म (which blogging platform to choose) चुनना चाहिए?

ब्लॉगर और वर्डप्रेस के बीच चुनाव | Choose between wordpress or blogger

ब्लॉगर ब्लॉगस्पाट – कब और कब नहीं | Blogger Blogspot, When to use When to not

ब्लॉगर उन लोगों की पहली पसंद होना चाहिए, जिन्हें ऑनलाइन अपनी बात रखनी है। आज इसमें पैसे कमाने और विज्ञापन करने के विकल्प (making money from ads option is available) मौजूद हैं, और सबसे बड़ा फ़ायदा ये है कि आपको डैशबोर्ड सेटिंग्स मैनेज (dashboard setting management) करनी हैं न कि होस्टिंग पैनेल (hosting panel)। जब आपको तकनीकी जानकारी न हो तब CPanel जैसा होस्टिंग पैनेल मैनेज करना सिर दर्द (headache) बन सकता है। ब्लॉगर आपको इससे छुटकारा दिलाता है। इसलिए आप ब्लॉगिंग करना चाहते हैं और रुपये कमाना चाहते हैं तो ब्लॉगिंग आपकी पसंद (blogging can be your favorite) बन सकता है। आज ब्लॉगर स्केमा रिच एसईओ फ्रेंडली प्लेटफ़ार्म है (blogger scheme rich seo friendly platform)। जिससे आप ब्लॉग का ऑन पेज एसईओ 90% तक कर सकते हैं। किसी भी ब्लॉगर के लिए इतना ही बहुत है, साथ ही ब्लॉगर ब्लॉगस्पॉट 100% मुफ़्त है। इसके लिए किसी तरह की वेब होस्टिंग ख़रीदने की आवश्यकता नहीं (no need to buy hosting) है, यानि पैसे की पूरी बचत ।

SEMrush

इंटरनेट अगर आप ब्रैडिंग के लिए ब्लॉगिंग शुरु कर रहे हैं तो ब्लॉगर प्रयोग करने की सलाह मैं नहीं (not suggest you blogger platform) दूँगा। इस मामले आपके पास बहुत कम विकल्प (very less options) हैं और सर्च इंजन में अपनी स्थिति को कंट्रोल करना बहुत मुश्किल काम है। क्योंकि आप ब्लॉगिंग प्लेटफ़ॉर्म (blogging platform) पर हैं न कि कंटेंट मैनेजमेंट सिस्टम (content management system) प्रयोग कर रहे हैं। अगर ऑन पेज एसईओ की बात करें तो ब्लॉगर वर्डप्रेस के सामने 20 में से 19 ही पड़ता है।

संक्षेप में कहें तो ब्लॉगस्पॉट एक मुफ़्त प्लेटफ़ॉर्म के रूप में बढ़िया विकल्प (better option in free platform) है। आज ब्लॉगर के लिए कई फ्री और प्रीमियम एसईओ फ़्रेंडली टेम्पलेट ऑनलाइन मिल जाते हैं। प्रीमियम टेम्पलेट की कीमत $5 से लेकर $25 हो सकती है। यदि आप इसे प्रयोग करें तो आप सर्च इंजन में अच्छी पोज़िशन (you can get good position) बना सकते हैं।

वर्डप्रेस – कब और कब नहीं | WordPress, When to use When to not

आज हम वर्डप्रेस पर शिफ़्ट हो चुके हैं। हमको इससे यह निष्कर्ष (result) नहीं निकलना चाहिए, ये मेरे लिए भी बेस्ट रहेगा। वर्डप्रेस पर ब्लॉग बनाने से आप ब्लॉग पर पूरा कंट्रोल (full control) पा सकते हैं। अगर आपको कोडिंग और सर्वर ऑप्टिमाइज़ेशन (coding and server optimization) आता हो तब यह आपके लिए बेस्ट च्वाइस (best choice) बन जाता है। आप एक होस्टिंग ख़रीद (buy hosting) कर उसपे वर्डप्रेस सेटअप कर सकते हैं, इसके बाद आप अपनी आवश्यकता के अनुसार प्लगिन इंस्टाल (install plugins) कर सकते हैं, जैसे एसईओ, कैशे आदि। वर्डप्रेस के लिए लाखों प्लगिन (millions of plugins) हैं, आप उनमें से अपने काम के फ्री और प्रीमियम प्लगिन डाउनलोड (you can download free or premium plugins) कर सकते हैं।

कुछ भी करने की आज़ादी के साथ-साथ पूरा ब्लॉग मैनेज (blog managing) करने की बड़ी ज़िम्मेदारी भी आ जाती है। यानि पोस्ट भी कीजिए और कोई तकनीकी समस्या (technical problem) हो तो उसे भी सुलझाए। अगर न सुलझे तो वर्डप्रेस एक्सपर्ट (wordpress expert) के पास जाकर खर्चा कीजिए।

अगर आप ब्रैंडिंग और ऑनलाइन कमाई (branding and online income) करने के बारे में सोच रहे हैं तो आपको वर्डप्रेस का प्रयोग करना चाहिए। लेकिन दिमाग़ में बिठा लेना चाहिए, कि आपको डोमेन (domain), सर्वर (server) और रखरखाव में सलाना खर्चा (annual expenditure) करना होगा। इसके विपरीत अगर ब्लॉगर पर रहे और कस्टम डोमेन प्रयोग करें (using custom domain) तभी डोमेन का सलाना खर्चा करना होगा, जो कि मामूली खर्च होता है।

MattCutts, Google Engineer अपने पर्सनल ब्लॉग (personal blog) के लिए वर्डप्रेस ब्लॉग प्रयोग कर रहे हैं, उनका भी मानना है कि ब्लॉगर नए यूज़र्स के लिए अच्छा विकल्प (good option for new bloggers) है और वर्डप्रेस आपको इससे आगे ले जाता है, आप इसे मनचाहे ढंग से कस्टमाइज़ कर सकते हैं।

आपको ध्यान रखना चाहिए कि वर्डप्रेस का डिफ़ाल्ट इंस्टालेशन एसईओ फ़्रेंडली नहीं (default installation is not seo friendly) होता है, लेकिन आपको वर्डप्रेस को प्लगिन की सहायता से उसे एसईओ फ़्रेंडली बनाया जा सकता है।

निष्कर्ष | Result

ब्लॉगर उन लोगों के लिए जो सिर्फ़ ब्लॉगिंग करना चाहते हैं (want to do blogging only) और एडसेंस से ऑनलाइन कमाई करना चाहते हैं, लेकिन अगर आप एक बिजनेस ब्लॉग (business blog) बनाने जा रहे हैं तो आपको वर्डप्रेस का चुनाव करना चाहिए। ब्लॉगर कम खर्चीला है वहीं वर्डप्रेस पर सलाना काफ़ी खर्च आता है।

अगर आप ब्लॉगिंग शुरु कर रहे हैं तो अपनी आवश्यकता के हिसाब से ब्लॉगिंग प्लेटफ़ॉर्म चुनिए (choose your platform wisely)। किसे के कहे पर जाने की आवश्यकता नहीं है, लोग एफ़िलिएट मार्केटिंग से पैसा कमाने के (making money from affiliate marketing) चक्कर में आपको वर्डप्रेस चिपकाने की कोशिश करते हैं। ऐसे लोगों से आपको बचकर रहने की (aware of them) ज़रूरत है।

SEMrush
x

Check Also

जानिये 5 टिप्स से के आखिर वर्डप्रेस साइट की स्पीड कैसे बड़ाई जाती है , Jaaniye 5 tips se ke aakhir wordpress site ki speed kaise badhai jaati hai.

जानिये 5 टिप्स से के आखिर वर्डप्रेस साइट की स्पीड कैसे बड़ाई जाती है | Jaaniye 5 tips se ke aakhir wordpress site ki speed kaise badhai jaati hai.

जानिये 5 टिप्स से के आखिर वर्डप्रेस साइट की स्पीड कैसे बड़ाई जाती है | ...